अनुशासन का महत्व निबंध | Anushasan ka mahatva 2021

अनुशासन का महत्व : आप सभी को तो पता ही होगा कि अनुशासन हमारे जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण होता है। हरेक लोगों के जीवन में अनुशासन का क्या महत्व है यह बात हम सभी अच्छे से जानते ही हैं। अनुशासन सबके जीवन में सबसे महत्वपूर्ण चीज होता है।

अनुशासन के बिना कोई भी मनुष्य एक खुशहाल जीवन नहीं जी सकता है। अनुशासन के कारण ही हमारा जीवन नियम और कायदे के अनुसार सही रूप से चल पाता है । अनुशासन के कारण ही हम सब अपने सारे कामों को सही समय पर और सही ढंग से करते हैं। यह हमें सही मार्ग पर ले जाता है। हमें अपने रोजमर्रा के कामों को अनुशासन में रहकर ही करना चाहिए क्योंकि इससे हमारे समय का सदुपयोग भी होता है और सारी कार्य समय पर और सही तरीके से भी हो जाते हैं।

अनुशासन क्या है?

जैसा कि हम जानते हैं कि अनुशासन ही एक व्यक्ति को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अनुशासित व्यक्ति बहुत आज्ञाकारी होते हैं और उसके उचित सत्ता के आज्ञा पालन के लिए सुरक्षित व्यवहार होता है अनुशासन हमारे पूरे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण लगता है।

जीवन के हर कार्य में अनुशासन की जरूरत होती है। अनुशासन सभी लोगों के लिए आवश्यक होती है जो किसी भी प्रोजेक्ट पर गंभीरता से कार्य करने के लिए जरूरी है। यदि हम अपने वरिष्ठों की आज्ञा और नियम नहीं मानते हैं तो अवश्य ही हमें कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है और जिसके कारण हम और सफल भी हो सकते हैं।

हमें हमेशा अनुशासन में ही रहना चाहिए और अपने जीवन में सफल होने के लिए हमें अपने माता-पिता और शिक्षकों के आदेशों का भी पालन करना चाहिए। हमें प्रतिदिन सुबह जल्दी उठना चाहिए, और नियमित रूप से दिनचर्या के तहत साफ पानी पीना चाहिए और रोजाना शौचालय जाना चाहिए। हमें रोजाना अपने दांतो को साफ पानी से साफ करना चाहिए फिर उसके बाद रोजाना अच्छी तरह से नहाना चाहिए और पौष्टिक नाश्ता भी करना चाहिए। बिना खाना लिए हमें स्कूल नहीं जाना चाहिए। हमें रोजाना समय-समय पर अपने घरों को और अपने आसपास स्वच्छता और सफाई रखनी चाहिए।

अनुशासन हीन रहने से क्या होता है?

अनुशासनहीनता की वजह से हमारे जीवन में कई सारी दुविधा उत्पन्न हो जाती है जो एक व्यक्ति को गैर जिम्मेदार और आलसी बना देती है। यह हमारे विश्वास और मस्तिष्क के स्तर को भी कम कर देती है जिसके कारण आसान से आसान कार्य और छोटे से छोटे कार्य मैं भी व्यक्ति को दुविधा ग्रस्त बना देती है। जबकि दूसरी और अनुशासन में रहने के कारण यह एक व्यक्ति को उसके जीवन के सबसे अधिक ऊंचाइयों की सीढ़ियों पर ले जाती है।

अनुशासन का महत्व
अनुशासन का महत्व निबंध

जीवन में अनुशासन का महत्व :

अनुशासन कार्यों को क्रमबद्ध तथा संयमित तरीकों से करने की एक विधि होती है यदि हम नियमित रूप से अनुशासित दिनचर्या का पालन करते हैं तो हम अपने जीवन स्तर को काफी हद तक अच्छा बना सकते हैं। अनुशासन के कारण ही हमें हमारे कार्यों को और भी अच्छी तरह से करने में हमारी सहायता करती है।

अनुशासन एक क्रिया है जो अपने शरीर दिमाग और आत्मा को नियंत्रित करता है और अपने परिवार के बड़ों शिक्षकों और माता पिता की आज्ञा को मानने के द्वारा सभी कार्य को सही ढंग से करने में हमारी मदद करता है। हमें कभी भी अपने माता-पिता की बातों का निरादर नहीं करना चाहिए या उनकी बातों को कभी न करना नहीं चाहिए या फिर यूं कहें कि हमें अपने माता पिता को कभी भी दुखी नहीं करना चाहिए।

अनुशासन हमारे जीवन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है। अनुशासन की बिना हमारे जीवन सुचारू रूप से नहीं चल सकता है खास तौर पर आज के आधुनिक समय में अनुशासन बहुत ही आवश्यक हो गई है क्योंकि इस व्यस्तता भरे समय में यदि हम अनुशासन भरे दिनचर्या का पालन ना करें तो हमारा जीवन अस्त-व्यस्त हो जाएगा। यही कारण है कि जीवन में अनुशासन का पालन करने वाले को अनुशासन हीन व्यक्तियों की अपेक्षा से अधिक मान सम्मान और सफलता प्राप्त होती है।

अनुशासन का अर्थ क्या होता है?

वास्तविकता में अनुशासन का अर्थ यह नहीं होता है कि हम दूसरों के बताए कार्यों का पालन करके अपने जीवन में अनुशासन लाने का प्रयास करें, बल्कि इसके बजाय हमें अपने जीवन में अनुशासन का पालन करना चाहिए क्योंकि स्वयं द्वारा पालीत अनुशासन ही सर्वोत्तम होता है। हर एक व्यक्ति का अपना एक लक्ष्य होता है जिसे प्राप्त करने की कार्यप्रणाली दूसरों से भिन्न होती है इसलिए दूसरों के द्वारा बताए गए अनुशासन के तरीकों को हमें प्राथमिकता ना देकर अपना खुद की एक अनुशासन पद्धति बनानी चाहिए और उसी के आधार पर अपने सारे कार्यों को पूर्ण करना चाहिए।

अनुशासित रहने के तरीके :

हम अपने रोजमर्रा के जीवन में अनुशासन को सही तरीके से अपनाने के लिए निम्नलिखित तरीकों का पालन कर सकते हैं –

1. बुरी आदतों और कार्यों से अधिक दूरी बनाए रखना।

2. अपने कार्यों के प्रति पूरी लगन और श्रद्धा रखना।

3. अपने कार्यों को सही समय पर पूरा करने का हर संभव प्रयास करना चाहिए। इससे समय की बचत होती है और समय का सदुपयोग भी होता है।

4. हमें व्यर्थ के कार्यों से हमेशा दूर रहना चाहिए।

5. हमें एक संतुलित और नियमित दिनचर्या का पालन करना चाहिए।

अनुशासन की आवश्यकता और इसके लाभ :

हमें अपने जीवन में अनुशासन को अपनाने से कई प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं। अनुशासन में रहने वाले व्यक्ति अपने जीवन के हर क्षेत्र में मान सम्मान और सफलता प्राप्त करते हैं। सेना और रक्षा तथा अनुसंधान संगठनों में तो जीवन तथा कार्यों में अनुशासन को अत्यधिक सर्वोपरि माना गया है क्योंकि इन क्षेत्रों में 1 सेकंड या 1 मिनट भरी की देरी या फिर एक छोटी सी छोटी चूक के कारण काफी बड़े नकारात्मक प्रभाव हमें देखने को मिलते हैं। यही कारण है कि अनुशासन को इतना महत्वपूर्ण बताया गया है।

न सिर्फ अनुसंधान संगठनों या सेना रक्षा में अनुशासन का महत्व है बल्कि विद्यार्थी जीवन में भी और घरेलू जीवन में भी अनुशासन का बहुत अधिक महत्व है। जो विद्यार्थी अपने जीवन में अनुशासन का पालन सही तरीके से करते हैं उन्हें अपने जीवन में कभी कोई कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा। विद्यार्थी अनुशासन में रहकर अपने भविष्य को सुनहरा और साकार बना सकते हैं।

उपसंहार 

हम यह कह सकते हैं कि अनुशासन हमारे जीवन में सफलता की कुंजी है। जो व्यक्ति अनुशासन को अपने जीवन में अपनाता है वह अपने जीवन में सफलता अवश्य ही प्राप्त करेगा। यही कारण है कि आज के इस युग में अनुशासन को इतना अधिक महत्व दिया जा रहा है और सभी से सभी से आग्रह किया जाता है कि वह अपने जीवन में अनुशासन का पालन करें।

यह भी पढ़े – 

Previous articleविज्ञान के चमत्कार निबंध | vigyan ke chamatkar Essay Hindi 2021
Next articleमेरे प्रिय खेल निबंध | mera priye khel 2021

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here