Chemistry Ke Janak Kon hai। Full details In Hindi 2021

Chemistry ke Janak :  दोस्तों! रसायन विज्ञान अर्थात chemistry kya hai के बारे में जानने के लिए कई महत्वपूर्ण पहलुओं का अध्ययन किया जाता है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम chemistry kya hai के साथ-साथ definition of chemistry in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

इसके अलावा हमने इस लेख में Chemistry ke Janak ka naam और types of chemistry in Hindi का भी संपूर्ण वर्णन किया है। तो आइए जानते हैं chemistry kya hai और Chemistry ke Janak kaun hai के बारे में।

रसायन विज्ञान का जनक किसे कहा जाता है? (Chemistry ke Janak )

एंटनी लॉरेंट लेवोयसिएर” को आधुनिक रसायन विज्ञान का जनक या पिता माना जाता है। इन्होंने ज्वलनशीलता में ऑक्सीजन की अहम भूमिका की खोज के लिए वे विशेष रूप से जाने जाते है। लेकिन किसी एक व्यक्ति को रसायन विज्ञान का जनक बताना उचित नहीं होगा क्योंकि सभी व्यक्तियों ने अपना ज्ञान इसमें संजोया है जिसकी वजह से रसायन विज्ञान ज्ञान से परिपूर्ण हुआ है। इसलिए “रसायन विज्ञान के जनक के तौर पर एंटोनी लेवईज़िएयर, रॉबर्ट बॉयल, जोन्स बेर्सेलियस, जब्बर इब्न हायेन और जॉन डाल्टन” को जाना जाता है।

भाषा विज्ञान की नजरिए से केमिस्ट्री की मूल अर्थात प्राथमिक धातु Chemy की उत्पत्ति यूनानी भाषा के खीमिया शब्द से हुई है जिसका शाब्दिक अर्थ है – ‘धातु निर्माण की यूनानी तकनीक से है।

Chemistry ke Janak
Chemistry ke Janak

Read also :  अमेरिका की जनसंख्या कितनी है। सम्पूर्ण जानकारी

Read also :  Physics के जनक कौंन है। सम्पूर्ण जानकारी

Chemistry क्या है ?  ( What Is Chemistry ? )

रसायन विज्ञान विज्ञान की एक ऐसी शाखा है जिसके अंतर्गत पदार्थों के संघटन, संरचना, उसके गुणों और रासायनिक प्रतिक्रिया के दौरान इनमें हुए बदलाव का अध्ययन किया जाता है। इसका शाब्दिक विन्यास रस + आयन है जिसका शाब्दिक अर्थ रसों (द्रवों) का अध्ययन है। यह एक भौतिक विज्ञान है जिसमें पदार्थों के परमाणुओं, उनके अणुओं, क्रिस्टलों और रासायनिक प्रक्रिया के दौरान प्रयुक्त हुए ऊर्जा का भी अध्ययन किया जाता है।
संक्षेप में रसायन विज्ञान रासायनिक पदार्थों का अध्ययन ही होता है।

रसायन विज्ञान को विज्ञान का केंद्र या फिर आधारभूत विज्ञान भी कहा जाता है क्योंकि यह अन्य विज्ञानों जैसे कि खगोल विज्ञानशास्त्र, भौतिक विज्ञानशास्त्र, पदार्थ विज्ञानशास्त्र, जीव विज्ञानशास्त्र और भू विज्ञानशास्त्र को आपस में एक दूसरे से संबंध स्थापित करता है।

मानव जीवन को विकसित करने में रसायन विज्ञान का अमूल्य योगदान है। मानव जाति के भविष्य को और भी सुरक्षित करने के लिए रसायन विज्ञान का विकास एवं उन्नति बहुत ही आवश्यक है।

यह उन्नति भी तभी संभव होगा जब साधारण लोग इस विज्ञान के तरफ आकर्षित होंगे। इस विज्ञान का विवेकपूर्ण और साधारण जनजीवन के लिए इसका उपयोग करना ही समय की मांग भी है और जरुरत भी है। संपूर्ण ब्रह्मांड रसायनों का खजाना है जहां पर भिन्न भिन्न प्रकार की रसायन मौजूद है।

हमारी दृष्टि जिधर भी जाती है और जो भी वस्तु हमें देखती है वह किसी ना किसी रसायनों के सहयोग से ही बना है और हम यह भी कह सकते हैं कि समूचा संसार रसायन की एक प्रयोगशाला है।

ब्रह्मांड में रासायनिक क्रियाओं के द्वारा ही ग्रहों, तारो तथा अन्य उपग्रहों की उत्पत्ति हुई है जिस पर जीवन संभव हो सका है। रसायन विज्ञान को जीवन उपयोगी विज्ञान की संज्ञा भी दी गई है। क्योंकि रसायन विज्ञान का हमारे जीवन में अत्यधिक महत्व है।

ब्रह्मांड में उपस्थित सभी पदार्थों की तीन अवस्था होती है ठोस, द्रव और गैस जो भी एक रसायन ही है। दैनिक उपयोग की चीजें जैसे – साबुन, तेल, ब्रश, मंजन, कागज, कलम, स्याही, दवाइयां अर्थात दैनिक जीवन में प्रयोग होने वाले सभी वस्तु रसायन विज्ञान की ही देन हैं। जिसका हमलोग लाभ उठाते है।

मानव जीवन को आसान बनाने में रसायन विज्ञान का सर्वाधिक महत्व है। यातायात, दूरसंचार, परिवहन एवं ऊर्जा के विभिन्न स्त्रोतों का आधार भी रसायन विज्ञान ही है। इसीलिए हम लोग रसायन विज्ञान को मानव जीवन से पृथक नहीं कर सकते।

रसायन विज्ञान के अंतर्गत क्या-क्या अध्ययन किया जाता है ?

रसायन विज्ञान के अंतर्गत पदार्थों के संघटन, संरचना, गुणों और रासायनिक प्रतिक्रिया के बाद इनमें हुए परिवर्तन का विशेष अध्ययन किया जाता है। पदार्थों की एक साथ आने से ही परमाणु का गठन हुआ है। परमाणु उप-परमाण्विक कणों जैसे इलेक्ट्रॉन, प्रोटॉन और न्यूट्रॉन से हुआ है।

केमिस्ट्री के अन्तर्गत मोटे तौर पर कहे तो तत्व और यौगिक के रूपांतरण, निर्माण एवं उनके गुण-धर्म का अध्ययन विशेष रूप से किया जाता है।

रसायन विज्ञान के प्रमुख क्षेत्र कौन-कौन से हैं ?

अध्ययन की सुविधा के लिए हम रसायन विज्ञान को कई क्षेत्रों में वर्गीकृत करते हैं :-

i) अकार्बनिक रसायन :-

कार्बन को छोड़कर सभी तत्त्वों और अनेक यौगिकों की जानकारी करना अकार्बनिक रसायन का क्षेत्र है। इसमें बोरोन, सिलिकॉन, जर्मेनियम इत्यादि तत्त्व का अध्ययन किया जाता है।

ii) कार्बनिक रसायन :-

इसमें कार्बन और हाइड्रोजन के अणुओं वाले रासायनिक यौगिकों के संरचना, गुणधर्म, रासायनिक अभिक्रियाओं एवं उनके निर्माण इत्यादि अध्ययन किया जाता है।

iii) भौतिक रसायन :-

भौतिक अवधारणाओं के आधार पर रासायनिक प्रणालियों में घटित होने वाली परिघटनाओ की व्याख्या करती है।

iv) जीव रसायन :-

जीवित जीवों के भीतर और उससे संबंधित रासायनिक प्रक्रियाओं का अध्ययन है। जीव रसायन को जैविक रसायन भी कहा जाता है। कोशिका की रसायन शास्त्र भी छोटे अणुओं और आयनों की प्रतिक्रियाओं पर निर्भर करता है।

v) औद्योगिक रसायन :-

रासायनिक उद्योग में वे सभी उद्योग आ जाते हैं जो औद्योगिक रसायनों का उत्पादन करते हैं। रासायनिक उद्योग संसार की वर्तमान अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी कहीं जाती है। ये उद्योग कच्चे माल जैसे कि तेल, प्राकृतिक गैस, वायु, जल, धातुएं तथा खनिज इत्यादि को लगभग 70 हजार से भी अधिक भिन्न- भिन्न उत्पादों में परिवर्तित कर देते है।

अतः हम यह कह सकते है कि रसायन विज्ञान संपूर्ण ब्रह्मांड के कण-कण में उपस्थित होती है तथा रसायन विज्ञान के बिना ब्रह्मांड में किसी भी वस्तु का कोई अस्तित्व नहीं होता है। रसायन विज्ञान की मदद से मनुष्य का जीवन काफी आसान हो जाता है और दैनिक कार्यों में भी मदद मिलती है।

Read also :  कार का आविष्कार किसने किया और कब किया ।

Read also :  Sangya kise kahate hain Full details

निष्कर्ष (Conclusion )

दोस्तों हम आशा करते हैं कि आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होगी क्योंकि हमने इसमें रसायन विज्ञान से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियों से आपको अवगत करवाया है। इस आर्टिकल के माध्यम से हमने Chemistry ke Janak ka naam kya hai से संबंधित महत्वपूर्ण बातें बताई है।

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई तो इसे ज्यादा से ज्यादा अपने सहपाठियों के साथ शेयर करें ताकि वह भी केमिस्ट्री अर्थात रसायन विज्ञान से संबंधित विषयों का अध्ययन कर सकें एवं विभिन्न प्रकार के लाभ उठा सकें।

Previous articleDuniya ka sabse jahrila saap kon hai। Full details In hindi 2021
Next articlePhysics के जनक कौंन है। सम्पूर्ण जानकारी In Hindi 2021

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here