SSLC full form। SSLC क्या है। Full details In hindi 2021

हेलो दोस्तो आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगे SSLC full form क्या होता है,दोस्तो जिस प्रकार हमें किसी नौकरी को पाने के लिए कुछ सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है। तब हमें नौकरी मिलती है।

उसी तरह SSLC भी एक सर्टिफिकेट होता है यह सर्टिफिकेट काफी महत्वपूर्ण होता है, इसलिए दोस्तों इस सर्टिफिकेट से जुड़ी सभी जानकारी आपको अवश्य जानी चाहिए।

अक्सर हमारे मन में कई तरह के शब्दों को लेकर कई सवाल उठते है, परन्तु हमें उतनी जानकारी अवश्य होनी चाहिए जितनी की हमें आवश्यकता है ताकि जरूरत पड़ने पर हम इसका उपयोग आसानी से एवं सही तरीके से कर सके।

इस पोस्ट के माध्यम से हम जानेंगे कि SSLC Full Form क्या है। SSLC सर्टिफिकेट क्या है, SSLC सर्टिफिकेट क्यों जरूरी होता है, SSLC सर्टिफिकेट कैसे प्राप्त करें एवं SSLC से जुड़ी समस्या जानकारी प्राप्त करेंगे।

SSLC क्या है? ( SSLC Full Form In Hindi )

SSLC certificate का पूरा नाम Secondary School leaving certificate होता है। इसे हिंदी में माध्यमिक विद्यालय छोड़ने का प्रमाण पत्र भी कहते हैं। जैसा कि इसके नाम को पढ़कर आपको यह समझ में आ गया होगा कि यह किस बारे में जानकारी देना चाह रहा है तो चलिए अब हम इसके बारे में और अधिक जानकारी जान लेते हैं।

SSLC एक प्रकार का certificate होता है जिससे यदि हम किसी स्कूल या कॉलेज में पढ़ाई कर रहे हैं और पढ़ाई खत्म होने के बाद हम किसी दूसरे स्कूल में पढ़ने जा रहे हैं तो इसके लिए हमें इस सर्टिफिकेट की आवश्यकता पड़ती है। इसे ही हम SSLC certificate कहते हैं। इस certificate की आवश्यकता हमें एक विद्यालय से दूसरे विद्यालय में जाने के वक्त पढ़ती हैं।

यदि हम दक्षिण भारत के केरला महाराष्ट्र तमिलनाडु कर्नाटक के उन राज्यों के बारे में बात करें तो हमें यहाँ पता चलेगा कि SSLC सर्टिफिकेट वहां के विद्यार्थियों के लिए कितनी महत्वपूर्ण होती है। इसकी जानकारी बहुत कम लोगों को ही पता होती है।

बच्चों को माध्यमिक परीक्षा पूरी करने पर दक्षिण भारत के राज्यों जैसे केरला कर्नाटक तमिलनाडु के विद्यार्थियों को यह SSLC certificate प्रदान किया जाता है।

SSLC full form।
SSLC full form

SSLC certificate की महत्व –

दक्षिण भारत के कई राज्यों में इस सर्टिफिकेट का बहुत अधिक महत्व है। इन राज्यों में दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों को एसएसएलसी एग्जाम देना होता है यदि कोई विद्यार्थी इस परीक्षा में सफल हो जाता है तो उन्हीं को केवल यह सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता है।

इन सभी राज्यों में यदि किसी विद्यार्थी के पास यह सर्टिफिकेट मौजूद होता है तो उससे इस बात का पता चलता है कि उस विद्यार्थी ने दसवीं तक की शिक्षा ग्रहण की है। इस certificate को ग्रहण करने के बाद विद्यार्थी को एक बुनियादी शिक्षा प्राप्त करने वाला समझा जाता है।

यदि कोई विद्यार्थी सेकेंडरी लेवल तक की शिक्षा पूरी करने के उपरांत किसी भी शिक्षण संस्थान में जाना चाहता है तो उसे इस सर्टिफिकेट की आवश्यकता पड़ती है। इसी कारण से यह सर्टिफिकेट विद्यार्थियों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है।

शिक्षा का वर्गीकरण –

भारत में शिक्षा को चार भागों में विभक्त किया गया है जैसे कि-

1. Play Group –

इसके अंतर्गत Nursery, K.G., L.K.G., U.K.G. आदि आते हैं। या किसी विद्यार्थी के जीवन का पहला पड़ाव होता है जहां से वह अपने शिक्षा की शुरुआत करता है।

2. Primary Group –

primary group को किसी विद्यार्थी के जीवन का पहले 5 वर्षों की शिक्षा के रूप में भी जाना जाता है। इसके अंतर्गत कक्षा 1 से कक्षा 5 तक के सभी क्लास आते हैं। यह किसी विद्यार्थी के शिक्षा का दूसरा पड़ाव होता है। इसी पड़ाव से किसी विद्यार्थी के शिक्षा की सही शुरुआत मानी जाती है।

3. Secondary Group –

यह भी प्राइमरी ग्रुप की तरह 5 वर्ष की शिक्षा होती है । इस पड़ाव में कक्षा 6 से कक्षा 10 तक के सभी क्लासेस आते हैं। यह विद्यार्थी के शिक्षा का तीसरा पड़ाव होता है।

4. High Secondary Group –

यह किसी विद्यार्थी के जीवन का चौथा पढ़ा होता है । इसमें कक्षा 11 से 12 एवं कॉलेज तक के क्लास मौजूद होते हैं। यह सबसे बड़ा सेकेंडरी ग्रुप माना जाता है। कोई भी विद्यार्थी इतने तक की शिक्षा ग्रहण करने के बाद स्नातक के लिए आसानी से आवेदन कर सकता है।

SSLC full form। SSLC क्या है।
SSLC full form। SSLC क्या है।

SSLC क्यों जरूरी होता है ?

SSLC certificate किसी भी विद्यार्थी के जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस सर्टिफिकेट के माध्यम से यदि आप दूसरे विद्यालय में पढ़ना चाहते हैं तो आपको वहां आसानी से प्रवेश करने दिया जा सकता है इतना ही नहीं बल्कि इस सर्टिफिकेट के माध्यम से आप नौकरी भी प्राप्त कर सकते हैं।

यदि आप कोई नौकरी करना चाहते हैं तो भी आपको ही सर्टिफिकेट की बहुत आवश्यकता पड़ेगी। नौकरी करने के लिए आपको पहले यह दिखाना होता है कि आप अपनी अंतिम शिक्षा कहां से प्राप्त किए हैं जिसकी जानकारी एसएसएलसी सर्टिफिकेट के माध्यम से मिलती है।

SSLC certificate कैसे प्राप्त करें?

अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद इस सर्टिफिकेट को पाना मुश्किल नहीं होता है आप आसानी से ही सर्टिफिकेट को प्राप्त कर सकते हैं। अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद आप जिस कॉलेज या विद्यालय से SSLC Sertificate प्राप्त करना चाहते हैं वहां आपको यह सर्टिफिकेट प्राप्त करने का कोई महत्वपूर्ण कारण एवं उसके साथ एक एप्लीकेशन भी देना होगा। इतना करने के बाद उस विद्यालय या कॉलेज से आपको एसएसएलसी का ओरिजिनल सर्टिफिकेट मिल जाएगा।

यदि आप SSLC Sertificate प्राप्त कर चुके हैं तो इस बात का अवश्य ध्यान रखें कि जिस जगह पर आपको ओरिजिनल सर्टिफिकेट की आवश्यकता पड़े केवल उसी जगह पर ही आप इसका इस्तेमाल करें वरना ओरिजिनल सर्टिफिकेट के जगह पर आप इसकी प्रतिलिपि को भी उपयोग में ला सकते हैं ।

क्योंकि यदि ओरिजिनल सर्टिफिकेट एक बार मिलने के बाद यदि वह आपसे खो गई तो इसे दोबारा प्राप्त करना बहुत अधिक कठिन हो जाता है । इसे दोबारा प्राप्त करने के लिए आपको फिर से एसएसएलसी रिजल्ट आने के बाद ही यह सर्टिफिकेट प्राप्त हो सकता है।

SSC certificate और SSLC certificate में क्या कोई अंतर होता है?

SSC certificate को हम secondary school certificate के नाम से भी जानते हैं। यह सर्टिफिकेट उन विद्यार्थियों को प्रदान किया जाता है जो कक्षा दसवीं की शिक्षा प्राप्त कर चुके हो। लेकिन कुछ राज्यों जैसे केरल कर्नाटक तमिलनाडु आदि में एसएससी सर्टिफिकेट के जगह एसएसएलसी सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता है।

इन दोनों सर्टिफिकेट में किसी भी तरह का कोई अंतर नहीं होता है यह दोनों सर्टिफिकेट माध्यमिक स्कूल प्रमाण पत्र के अंतर्गत ही आते हैं।

निष्कर्ष ( Comclusion )

दोस्तो इस पोस्ट के माध्यम से अपने जाना कि SSLC full form क्या होता है, SSLC क्या है, SSLC सर्टिफिकेट कैसे प्राप्त करें एवं SSLC सर्टिफिकेट की जरूरत क्या है,आदि SSLC से जुड़ी संपूर्ण जानकारी हासिल की।

आशा करते हैं दोस्तों आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और SSLC से जुड़ी यह जानकारी अच्छी लगी होगी यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इस जानकारी को सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें एवं इस पोस्ट से संबंधित कोई भी प्रश्न हो तो नीचे कमेंट के माध्यम से अवश्य पूछे हम आपके प्रश्नों के उत्तर अवश्य देंगे धन्यवाद

Previous articleReferral code kya hota hai। Full details In hindi 2021
Next articlePWD Full Form। PWD क्या है। Full details In Hindi 2021

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here